धमाका हो सकता है कभी भी! इन्वर्टर के साथ की गई ये लापरवाही बन सकती है गंभीर हादसे की वजह

इन्वर्टर घरों में आम हो गया है लेकिन इसके साथ अगर सावधानी ना बरती जाए तो ये काफी खतरनाक साबित हो सकता है।nnnnनई दिल्ली। आजकल ज्यादातर लोग अपने घरों में इन्वर्टर का इस्तेमाल करने लगे हैं। जिनका घर छोटा है वो वो कम क्षमता वाला इन्वर्टर इस्तेमाल करते हैं तो वहीं जिनके घर में ज्यादा स्पेस है उन्हें ज्यादा क्षमता के इन्वर्टर पर निर्भर रहना पड़ता है। हालांकि लोग इन्वर्टर खरीद तो लेते हैं लेकिन कई बार इसके इस्तेमाल के साथ ही इसके रख-रखाव में लापरवाही बरतने लगते हैं जिसके परिणाम कई बार इतने गंभीर हो जाते हैं कि आप यकीन भी नहीं कर पाएंगे। पिछले कुछ सालों में ऐसे दर्जनों मामले सामने आए हैं जिनमें इन्वर्टर की बैटरी में धमाका होने की बात सामने आई है साथ ही इन्वर्टर की वजह से घर में आग भी लग चुकी है। ये इतना गंभीर मुद्दा है कि इसमें लापरवाही की गई तो ये हादसे को खुला न्योता देता है। ऐसे में आज हम आपको उन गलतियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो आमतौर पर लोग घरों में करते हैं जिसके चलते इन्वर्टर किसी बम की तरह फट सकता है। खराब वायरिंगnअगर आप अपने घर के इन्वर्टर को चार्ज कर रहे हैं तो ध्यान रखें कि इसकी वायरिंग अच्छी क्वालिटी की हो साथ ही इसमें कोई रुकावट ना हो। दरअसल खराब वायरिंग की वजह से इन्वर्टर में कई बार शॉर्ट सर्किट हो जाता है जो आग लगने की बड़ी वजह हो सकती है। ऐसे में वायरिंग का विशेष ध्यान देना चाहिए। वाटर रीफिलिंग में देरnहर इन्वर्टर की बैटरी में कुछ महीनों में वाटर लेवल चेक करना जरूरी होता है जो इस्तेमाल के साथ ही कम होता रहता है। दरअसल बैटरी में डिसटिल वाटर डाला जाता है और इसका लेवल अगर कम हो जाए तो बैटरी बुरी तरह से डैमेज हो सकती है साथ ही इसमें आग भी लग सकती है और इसपर ज्यादा लोड आए तो ये फट भी सकती है। ऐसे में वाटर लेवल को समय से चेक करना चाहिए और जरूरत होने पर इसमें वाटर रिफलिंग कर देनी चाहिए।nnखराब वेंटिलेशनnअगर आपने इन्वर्टर को खराब वेंटिलेशन वाले कमरे में रखा हुआ है तो आपको इसे तुरंत ऐसे कमरे में रखना चाहिए जहां अच्छा वेंटिलेशन हो और इसका तापमान नियंत्रित रहे। कई बार जरूरत से ज्यादा दबाव पड़ने की वजह से भी इन्वर्टर गर्म हो जाता है और वेंटिलेशन की कमी से ये आग पकड़ सकता है।     अगर आप अपने इन्वर्टर को समय-समय पर चेक नहीं करवाते हैं तो आपको ये आदत बदल लेनी चाहिए। इससे इन्वर्टर में आने वाली दिक्कतों के बारे में समय से पता चल जाता है और आप इसे पहले ही ठीक करवा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *